ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और कैसे करते है?|blogging Tips 2023 हिंदी में

हेल्लो दोस्तों, आप सभी को नमस्कार, आज के इस आर्टिकल में हम ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और इसे और कैसे करते है?, इसपर चर्चा करेंगे, सभी प्रक्रिया को हम इस आर्टिकल में शामिल करेंगें, मैंने तय किया है कि आपके जो भी सवाल हों, मैं उनके जवाब इस आर्टिकल में दूंगा, अगर आपको समझना है कि ब्लॉगिंग कैसे की जाती है? तो आप सही जगह पर आये हैं, साथ ही आपको यह भी जानने का मन होगा कि Blogging से पैसे कैसे कमाए? जा सकते हैं.

शुरुआत में, मुझे आपको दो ज़रूरी बातें बतानी हैं, पहली, सब्र ज़रूरी है, और दूसरी, कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी, अगर वास्तव में आपका लक्ष्य ब्लॉगिंग से पैसा कमाना है पर सब्र नहीं है, तो आप इस आर्टिकल को यहीं छोड़ सकते हैं, नहींतो पूरा आर्टिकल पढ़ें.

ब्लॉग क्या है?

एक ब्लॉग वो वेबसाइट होती है जहां नियमित रूप से अपडेट होते हैं और नए पोस्ट शेयर किये जाते हैं, जो इन्हें लिखता है, उसे ब्लॉगर कहते है, और साइट को ब्लॉग कहा जाता है, ब्लॉग पर ऐसी पोस्ट्स होती हैं जिन्हें लोग Google पर ढूंढते हैं, और फिर इन्हें पढ़कर अच्छी और जरुरी जानकारी प्राप्त करते हैं, मान लीजिये, आपने Google पर कुछ सर्च किया, मेरा ब्लॉग मिला, और यहाँ से आपको वो सभी जानकारियां मिलीं जिनकी आपको ज़रुरत थी.

ब्लॉगर क्या है?

जिसे “ब्लॉगर” कहते हैं, वो अपने ब्लॉग पर नए पोस्ट्स डालता है और वही इसका मालिक भी होता है, जो नयी सूचनाएँ आपके सामने लाता रहता है,

अब हम समझेंगें कि ब्लॉगिंग क्या होती है?

ब्लॉगिंग क्या है?

ब्लॉगिंग का मतलब होता है नए-नए पोस्ट ब्लॉग पर डालना, ये बड़ा सीधा है, आप समझ रहे होंगे कि आपको वेबसाइट या ब्लॉग बनाना आना चाहिए, या कोडिंग और प्रोग्रामिंग करनी चाहिए, अगर ऐसा सोचते हैं, तो गलत सोचते हैं, इंटरनेट में ऐसे कई सारे प्लेटफार्म हैं, जहां कोडिंग और प्रोग्रामिंग की ज़रुरत ही नही पड़ती और आप बिना इसके भी अपना ब्लॉग स्टार्ट कर सकते हैं.

ब्लॉग के प्रकार

अब तक आप समझ ही गए होंगे कि ब्लॉग क्या है? पर चलिए, और जानते हैं कि ब्लॉग कितने प्रकार के होते हैं, सच कहूँ तो, ब्लॉग बहुत सारे तरह के होते है, पर मैं यहां कुछ खास तरह के ब्लॉग का जिक्र करने वाला हूं, तो आइये, जानते हैं.

(1) Personal ब्लॉग :-

नाम से ही जाहिर होता है कि इस प्रकार के ब्लॉग का विशेष विषय नहीं होता, ब्लॉग ओनर जो मन में आए वो इनफॉरमेशन पाठकों से शेयर करते हैं, इसमें अक्सर कविता, कहानी और बाकी समय में कभी-कभार दैनिक जीवन की घटनाएं भी समाहित हो जाती हैं, पैसे कमाना इनका मुख्य लक्ष्य नहीं होता.

(2) Niche ब्लॉग :-

अगर सीधे शब्दों में कहें तो Niche का मतलब होता है विषय (Niche Blog) वह होता है जो केवल एक ही विषय पे आधारित होता है, इस प्रकार का ब्लॉग, जिसमे मालिक केवल एक ही प्रकार की पोस्ट डालता है, ऐसा करने से उस विषय की अच्छी-खासी समझ बन जाती है, मान लो कोई Tech विषय पर Niche Blog चलाता है, तो उस ब्लॉग पे आपको केवल टेक्नोलॉजी से सबंधित पोस्ट्स ही मिलेंगी, इसी तरह ये Niche Blogs पैसा अच्छा कमाते हैं.

(3) Micro Niche ब्लॉग :-

इस समय में जो ब्लॉग सबसे जल्दी फैमस हो रहा है, वो है Micro Niche Blogs, अभी, मोटे-मोटे ब्लॉगर्स भी इस पे काम करना चाहते हैं, Micro Niche Blogs, Niche Blogs के मुकाबले काफी छोटा होता है,

चलिए, इसको हम सीधी साधी भाषा में समझें, मानो एक निच ब्लॉग है जो कि टेक पर आधारित है, और अगर हम उसी में सिर्फ़ “ऑनलाइन पैसा कमाने” के ऊपर लिखें, तो वो माइक्रो निच के दायरे में ही आता है.

(4) Group ब्लॉग :-

जब दो या उससे अधिक लोग मिल कर एक ब्लॉग चलाते हैं, तो उसे Group Blog कहते हैं, इन ब्लॉग्स में किसी खास विषय पर लिखने की कोई शर्त नहीं होती.

(5) Corporate ब्लॉग :-

किसी कंपनी के द्वारा अपनी सूचनाएं और जानकारियां शेयर करने के लिए शुरु किए गए ब्लॉग को Corporate Blog कहते हैं, क्योंकि उन्हें कंपनी ही संभालती है.

(6) Affiliate ब्लॉग :-

ये ब्लॉग की मुख्य बात यह है कि यह Affiliate Marketing के जरिये पैसा कमाने के उपाय बताता है, ब्लॉगर ऐसे प्रोडक्ट्स का Review करता है, जिनके Affiliate Link वो अपनी पोस्ट में देता है, और जब भी कोई User उस दिए गए लिंक पे क्लिक कर के प्रोडक्ट को खरीदता है, तब उस ब्लॉगर को उसकी बिक्री का कमिशन मिलता है.

(7) Vlog (Video ब्लॉग) :-

इस तरह के ब्लॉग में ब्लॉगर अपने विडियो बना के पोस्ट करते हें, जिसे विडियो ब्लॉग कहते हैं, ब्लॉगर ऐसे विडियो YouTube और Facebook पे भी Vlog के रूप में बनातें है.

(8) Multi Niche ब्लॉग :-

जिन ब्लॉग पर कई सारे मुद्दों पर आर्टिकल लिखे जाते है, उनको Multi Niche Blog कहते है, ऐसे ब्लॉग पर ज़्यादा User आते हैं और अच्छी कमाई भी होती है.

ब्लॉग पोस्ट क्या है?

एक ब्लॉग पोस्ट सिर्फ एक आर्टिकल होता है जो ब्लॉग पे पब्लिश किया जाता है, पहले ये निजी डायरी के पन्नों की तरह हुआ करते थे, कुछ ऐसा जैसे अब हम सोशल मीडिया पे पोस्ट करते हैं, मगर, अब वक्त के साथ ब्लॉगिंग में काफी बदलाव आ चूका है, आज, ज्यादातर ब्लॉग पोस्ट्स किसी मुद्दे पर मार्गदर्शन देनेवाले, सवाल का जवाब देनेवाले, या समस्या का समाधान बतानेवाले पोस्ट होते हैं, सच पूछो तो, इनका स्वरुप किसी मैगजीन में छपने वाला एक लेख जैसा होता है.

ब्लॉग और पोस्ट में क्या अंतर है?

ब्लॉग क्या होता है? लोग कई बार “ब्लॉग”, और “ब्लॉग पोस्ट” शब्दों के मतलब में उलझ जाते हैं, सीधी भाषा में कहें तो, “ब्लॉग” पूरी की पूरी वेबसाइट को कहते हैं, वहीं “पोस्ट” या “ब्लॉग पोस्ट” एक-एक करके लेख होते हैं, जो उस वेबसाइट पर होते हैं, सोचिये, अगर आप “ब्लॉग” को एक डिजिटल मैगजीन मान लें, तो मैगजीन के हर पन्ने पर जो अलग-अलग स्टोरी होती हैं, वो “पोस्ट” हैं.

कुछ लोग अकसर कहते हैं की “उसने पिछ्ले हफ्ते 3 ब्लॉग लिखे”, पर दरसल वे कहना चाहते हैं “उसने पिछले हफ्ते 3 ब्लॉग पोस्ट लिखीं” या “मेने तुम्हारा लेटेस्ट ब्लॉग पढ़ा” का मतलब होता है कि “मैंने तुम्हारी सबसे नयी ब्लॉग पोस्ट पढ़ी”.

मिसाल के तौर पर, मेरा ब्लॉग -Earningideas92.com- यह साइट है जिसपर आप फ़िलहाल हैं, और “ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और कैसे करते है?” वाला पेज ही “ब्लॉग पोस्ट” है जिसे आप पढ़ रहे हैं.

ब्लॉगिंग के प्लेटफॉर्म

अब के दौर में बाजार में कई सारे ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म हैं, मगर हम इधर कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म पर चर्चा करेंगे.

ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और कैसे करते है?|blogging Tips 2023 हिंदी में
  • ( WordPress.org ) :-

ये दुनियाँ का सबसे पसंदीदा ब्लॉगिंग प्लेटफार्म है, इसकी सुरुआत 2003 में हुई थी, इंटरनेट पे जितनी भी वेबसाइट हैं, उनका 43% हिस्सा केवल WordPress.org पे ही है.

ये Open Source और मुफ्त ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म है, इससे आप तुरंत से अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बना सकते हैं, ये Self-Hosted सुविधा है, मतलब की आपको किसी WordPress Hosting Provider पे साइन अप करना पडे़गा, अगर आप को अपने ब्लॉग या वेबसाइट पे पूरा कंट्रोल चाहिए, तो WordPress एक शानदार विकल्प हो सकता है.

  • ( Blogger.com ) :-

गूगल ने एक फ्री ब्लॉगिंग सेवा की शुरुआत की है, जिससे किसी भी प्रकार के पढ़े-लिखें की परवाह किए बिना हर कोई अपना ब्लॉग खड़ा कर सकता है, और इसमें आपसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा.

पहले Pyra Labs ने 1999 में इसे बनाया, बाद में 2003 मे॑ गूगल ने इसे खरीदा और उपयोगकर्ताओं के सामने प्रस्तुत किया, फ्री में ब्लोग बनाने केलिए सिर्फ आपको Google Account की ज़रूरत होती है.

  • ( Web.com ) :-

Web.com एक मशहूर वेबसाइट निर्माण का मंच है, यहाँ आप वेबसाइट और ऑनलाइन स्टोर में ब्लॉग सेक्शन जोड़ सकते है,

इसका Drag & Drop सुविधा का फायदा उठाके, जिनको तकनीकी जानकारी नही होती, वो भी अपना ब्लॉग या वेबसाइट बना पाते है, साथ ही, कई सारे पहले से बने हुए टेम्प्लेट्स भी मिलते हैं, जिससे आप कोडिंग के बिना अपने ब्लॉग की Customization कर सकते हैं.

  • ( WordPress.com ) :-

2005 में WordPress.org के को-फाउंडर, मैट मुलेनवेग ने इसे शुरू किया था, ये साइट ब्लॉग होस्टिंग की सुविधा देती है,

आप यहाँ पे बिना किसी चार्ज के अपना ब्लॉग शुरू कर सकते हो, और जब आपका ब्लॉग मशहूर हो जाए, तो पेड सर्विसेज भी खरीद सकते हैं.

  • ( Tumblr.com ) :-

ये प्लेटफॉर्म दूसरे ब्लॉगिंग प्लेटफार्म से कुछ हटके है, ये माइक्रोब्लॉगिंग साइट है, जहाँ पे आप मुफ़्त में ब्लॉग लिख सकते हो, इसमें सोशल मीडिया के फीचर्स भी खूब मिलते हैं, जैसे कि दूसरे ब्लॉग्स को फॉलो करना, किसी पोस्ट को दोबारा शेयर करना, इन-बिल्ट शेयरिंग के ऑप्शन्स वगेरा Tumblr की यही खासियतें इसे आजकल चर्चा में ला रही हैं.

  • ( Medium.com ) :-

2012 में Medium.com की शुरुआत हुई थी, ये प्लेटफॉर्म लिखने वालों, ब्लॉगरों, जर्नलिस्टों और एक्सपर्ट्स का एक मंच बन चूका है, Medium सोशल मीडिया साइट्स की तरह ही काम करता है, जहाँ आप Account बनाके अपने पोस्ट पब्लिश कर सकते हे, Account बनाने के बाद आपको एक प्रोफ़ाइल URL मिलेगा –https://medium.com/@yourname यहाँ आप किसि और का domain use नहीं कर सकते.

  • ( Ghost.com ) :-

साल 2013 में इसकी शुरूआत हुई, ये एक प्रकार का मिनी ब्लॉगिंग सिस्टम है, जिसे ब्लॉग लिखने के नजरिए से डिजाइन किया गया है, Ghost को होस्ट की गई सेवा और मोबाइल एप्लीकेशन, दोनों ही तरह से पेश किया गया है,

( मैंने उपर जितने भी ब्लॉगिंग मंचों का जिक्र किया है, सभी बहुत प्रसिद्ध हैं, हालांकि, अन्य बहुत सारे प्लेटफॉर्म भी हैं, जहां आप अपना ब्लॉग बना सकते हैं ).

ब्लॉगिंग के फायदे और नुकसान क्या हैं?

( दोस्तो, ब्लॉगिंग में कई लाभ होते हैं पर कुछ कमियां भी होती हैं, आइए जानते हैं ).

  • ब्लॉगिंग के फायदे :-
  1. ब्लॉगिंग के लिए किसी खास पढ़ाई की जरूरत नहीं, कोई भी इसे सीखकर आजमा सकता है.
  2. तुम सरकारी नौकरी से ज्यादा पैसा ब्लॉगिंग से कमा सकते हो.
  3. तुम घर से ही ब्लॉगिंग कर सकते हो, बाहर जाने की या ऑफिस की कोई जरुरत नहीं पड़ती.
  4. ब्लॉगिंग के साथ-साथ SEO, वेब डिजाइन जैसी कई Skills भी सीखने को मिलती हैं.
  5. तुम फ्री में ब्लॉग स्टार्ट करके, मेहनत करके इसे लाखों-करोड़ों का कारोबार भी बना सकते हो.
  6. ब्लॉगिंग पैसिव इनकम का जरिया है, मतलब कि कमाई चलती रहेगी चाहे तुम काम करो या नहीं.
  7. तुम्हें समय की पाबंधी नहीं होती, अपने बॉस खुद होते हो.
  8. तुम्हारा नाम इंटरनेट पर फेमस हो सकता है.
  9. पार्ट-टाइम हो या पूरा समय, ब्लॉगिंग दोनों संभव है.
  • ब्लॉगिंग के नुकसान :-
  1. स्टार्ट में खूब मेहनत करनी पडती है, सीखने में समय भी लगता है.
  2. सुरुआत में, समय और पैसा कमाने में परेशानी आ सकती है सफल ब्लॉगर बनने के लिए.
  3. 100 में से 10-20 ही लोग इसमें सफल हो पाते है.
  4. कंप्यु्टर पर ज्यादा काम करने से आंखों में परेशानी हो सकती है.
  5. कॉम्पिटिशन काफी बढ़ चुकि हे, इसलिए सक्सेस मिलने के चांस कम होते हैं.

निष्कर्ष

दोस्तों, इस आर्टिकल में हमने आपको बताया की ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और कैसे करते है? हमने इन सभी विषयों को एक आर्टिकल में कवर किया है, अगर आपको कोई परेशानी हो रही है, तो हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं, और हम जल्द से जल्द आपको उत्तर देने की कोशिश करेंगे.

FAQ

(1). ब्लॉगिंग क्या है? और यह कैसे किया जाता है?

वेब पर होने वाली पत्रकारिता को ब्लॉगिंग कहा जाता है, ब्लॉग को एक पत्रिका की तरह समझिए, जिसमें मैं भी आपका लेखक और प्रकाशक आप ही हे, आपकी पत्रिका को हार्डवेयर कॉपी में नहीं प्रकाशित करना चाहिए, इसके बजाय, आपको गूगल के Blogger या WordPress पर अपना खाता खोलना होगा.

(2). अपना खुद का ब्लॉग कैसे शुरू करें?

( ब्लॉग शुरू करने केलिए फ्री वेबसाइट Blogger.com पर जा सकते हे जिसके तरीके ये है )
1. Blogger पर साइन इन करें.
2. बाईं ओर, तीर वाले निशान पर क्लिक करें.
3. एक नए ब्लॉग पर क्लिक करें.
4. अपने ब्लॉग को नाम दें.
5. आप आगे बढ़ें पर क्लिक कर सकते हैं.
6. ब्लॉग का यूआरएल या पता चुनें.
7. सेव पर क्लिक करें.

(3). मोबाइल पर ब्लॉगिंग करना संभव है?

Blogger मोबाइल ऐप का उपयोग करके आप अपने ब्लॉग पर पोस्ट कर सकते हैं, इसका इस्तेमाल पहले से मौजूद ब्लॉग पोस्ट को बदलने, उसे सेव करने और देखने के लिए भी कर सकते हैं, इस एप को किसी भी Android 5.0 या उसके बाद के version पर डाउनलोड किया जा सकता है.

(4). ब्लॉग से पैसा कैसे कमाएं?

अगर आप एक ब्लॉग प्रकाशक हैं, तो अपने ब्लॉग पर विज्ञापन लगाकर ऑनलाइन कॉन्टेंट से पैसे कमाने का एक अच्छा तरीका हो सकता है, विज्ञापन देने वाले आपके दर्शकों तक पहुंचने के लिए पैसे चुकाने को तैयार रहते हे.

(5). कितने शब्द ब्लॉगिंग में उपयोगी हैं?

300 से 4000 वर्ड के ब्लॉग लेख लिख सकते हैं, आप अधिक लिख सकते हैं अगर आपको विचार आते हैं, साथ ही, ब्लॉग पोस्ट में कितने वर्ड चाहिए, ये कीवर्ड पर निर्भर करता है, यदि आपको ब्लॉग पोस्ट लिखने की जरूरत है, तो आपको कंटेंट रिसर्च करना सीखना चाहिए.

4 thoughts on “ब्लॉग क्या है?, ब्लॉगर क्या है?, ब्लॉगिंग क्या है? और कैसे करते है?|blogging Tips 2023 हिंदी में”

Leave a comment